जब दिल में एहसासों की बारिश होती है,
ख्वाबों को हकीकत में पिरोने की गुज़ारिश होती है।

दिल के रिश्तों का राज गहरा है,
जिस पल साथ हैं ये वो वक़्त सुनहरा है।
हर तरफ राहों में चाहतों का पहरा है,
प्यार की रोशनी से ओझल अँधेरा है।
जब अधूरी साँसों को सम्पूर्णता की फरमाईश होती है।
ख्वाबों को हकीकत में पिरोने की गुज़ारिश होती है।

जग की इस भौतिकता में
जीवन में बढ़ती व्यस्तता में
कुछ तो पीछे छूट गया है
प्रेम के बधनों का धागा जैसे टूट गया है।
जब बिखरे मोतियों को संजोने की कोशिश होती है,

ख्वाबों को हकीकत में पिरोने की गुज़ारिश होती है।

ह्रदय की गहराईयों में बस प्रेम का राग हो,
द्वेष के न शूल हों बस हर दिल में अनुराग हो,
हर मुश्किल यूँ ही आसान हो जायेगी
बस खुद पे विश्वास हो।
और अपनों का साथ हो
प्यार की इस डोर को बस सच की आजमाईश होती है,
ख्वाबों को हकीकत में पिरोने की गुज़ारिश होती है।

जब दिल में एहसासों की बारिश होती है,
ख्वाबों को हकीकत में पिरोने की गुज़ारिश होती है।

Written by : Ayushi Gupta
E-mail : gupta.ayushi54@gmail.com



Axact

Akshaya Gaurav

hindi sahitya, hindi literature, hindi stories, hindi poems, hindi poetry, motivational stories, inspirational stories, हिन्दी साहित्य, कहानियाँ, हिन्दी कविताएँ, काव्य, प्रेरक कहानियाँ, प्रेरक कहानियाँ, व्यंग्य.

loading...

POST A COMMENT :