• चयनित नाटकों का 4 से 9 मार्च 2017 तक दिल्ली में आयोजित होने वाले मेटा महोत्सव में होगा मंचन
  • नामित नाटक भारतीय रंगमंच की विविधता को प्रदर्शित करते हैं जो मेटा में राजस्थान पहली बार भाग लेगा
  • मेटा नामांकन के लिए विभिन्न क्षेत्रों से 300 से अधिक प्रविष्टियां मिली


नई दिल्ली। 12 वें महिंद्रा एक्सीलेंस इन थियेटर अवार्ड्स एंड फेस्टिवल ने अपने नामित नाटकों की घोषणा कर दी है। मेटा के लिए 10 नाटकों का चयन किया गया है जिनका मंचन 4 से 9 मार्च तक राजधानी में होगा और इन नाटकों के बीच देश के सर्वाधिक व्यापक थिएटर पुरस्कार के लिए प्रतिस्पर्धा होगी। सांस्कृतिक अभियान के तहत महिंद्रा समूह और अग्रणी मनोरंजन कंपनी टीमवर्क आर्टस की ओर से संयुक्त रूप से आयोजित होने वाले मेटा महोत्सव का देशभर में थिएटर प्रेमी और थियेटरकर्मी हर साल बेसब्री से इंतजार करते हैं।
इस साल 300 से अधिक प्रविष्टियां मिली और चयन समिति ने इन नाटकों को देखा और उनका मूल्यांकन किया। चयन समिति में प्रख्यात थियेटर कर्मी - अरूंधति राजा, दीपा पुंजनि, दीपन शिवरामन, दानिश हुसैन और देबेश चटर्जी शामिल रहे। समिति ने मेटा महोत्सव 2017 के लिए 10 नाटकों को नामित करने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी उठायी।
ये नाटक भारतीय रंगमंच में सांस्कृतिक पहचान और भाषाओं की विशुद्ध विविधता को दर्शाते हैं। ये 10 नामित नाटक हिंदी और अंग्रेजी के अलावा बंगाली, मलयालम, राजस्थानी और कन्नड़ भाषा में हैं। रंगमंच प्रेमी 4 से 9 मार्च तक दिल्ली में कमानी सभागार, लिटिल थिएटर ग्रुप (एलटीजी) और श्री राम सेंटर में मेटा समारोह के दौरान एक सम्मानित जूरी के समक्ष प्रदर्शित होने वाले इन नामित नाटकों का मंचन देख सकेंगे। मेटा के लिए भव्य पुरस्कार वितरण समारोह दिल्ली में 10 मार्च को आयोजित होगा।
मेटा महोत्सव का उद्देश्य भारतीय रंगमंच के प्रति जागरूकता और जन स्वीकृति को बढ़ावा देना है। इस उद्देश्य के कारण मेटा महोत्सव रंगमंच क्षेत्र के सर्वश्रेष्ठ मंचीय नाटकों, उनके निर्माताओं तथा उनके संयोजकों की पहचान करने तथा उन्हें पुरस्कृत करने वाला एकमात्र राष्ट्रीय मंच है।
महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के सांस्कृतिक विस्तार के प्रमुख जय शाह ने कहा कि हमने महिंद्रा एक्सीलेंस इन थिएटर अवार्ड्स को तहेदिल से अपनाने के लिए भारत के रंगकर्म समुदाय के प्रति आभार की भावना के साथ 12 वें मेटा का सूत्रपात किया है। पिछले कुछ वर्षो से हमें लगतार 300 से अधिक प्रविष्टियां मिल रही हैं और यह महिंद्रा समूह द्वारा किये जा रहे इस प्रयास के प्रति थिएटर समूह की रुचि और उनके विश्वास को दर्शाता है। हम मार्च के प्रारंभ में अंतिम रूप से चुने गए नाटकों को देखने तथा इनका आनंद उठाने के प्रति अत्यंत उत्साहित हैं।
उन्होने कहा कि ये नाटक भारत में जीवंत थिएटर परिदृश्य को उजागर करते हैं। ये नाटक विभिन्न क्षेत्रों के हैं, मसलन- कोटा, पटना, दिल्ली, मुंबई, कोच्चि, बेंगलुरु और कोलकाता और ये नाटक देश के सभी क्षेत्रों में महत्वपूर्ण कला के रूप में रंगकर्म के प्रति लोगों के जुनून और और उनके मंचन का प्रतीक हैं। मेटा के मंच ने बड़े पैमाने पर समाज के कई तकलीफदेह मुद्दों पर प्रकाश डालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हर साल की तरह, मेटा 2017 अल्पसंख्यकों की आवाज, प्रचलित सामाजिक-सांस्कृतिक अंतर, आधुनिक समय की बढ़ती परेशानियों, भारतीय पौराणिक कथाओं के समकालीन संदर्भों, और मानवीय भावनाओं और अंतरात्मा की जटिल कहानियों सहित कई अहम मुद्दों को सामने लाता है।
चयन के परिणामों पर टिप्पणी करते हुए टीमवर्क आर्ट्स के प्रबंध निदेशक और इस फेस्टिवल के निर्माता संजय के. रॉय ने कहा कि नाटकों के माध्यम से विविधता और जीवंतता को उजागर होते हुए देखना अभूतपूर्व है। ये नाटक भारत में समकालीन थिएटर को प्रतिबिंबित करते हैं। कॉमेडी से लेकर संगीतमय, धार्मिक और सामाजिक-सांस्कृतिक मुद्दों से लेकर भारत की समृद्ध पौराणिक ग्रंथों की समकालीन पुनर्व्याख्या करने वाले ये नाटक उपमहाद्वीप में व्याप्त जटिलताओं को सामने लाते है।










मेटा के तहत सर्वश्रेष्ठ नाटक, सर्वश्रेष्ठ निर्देशक, लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड, सर्वश्रेष्ठ मंच डिजाइन, सर्वश्रेष्ठ लाइट डिजाइन, सर्वश्रेष्ठ इनोवेटिव साउंड डिजाइन, सर्वश्रेष्ठ कॉस्टयूम डिजाइन, मुख्य भूमिका में सर्वश्रेष्ठ कलाकार (पुरुष), मुख्य भूमिका में सर्वश्रेष्ठ कलाकार (महिला), सहायक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ कलाकार (पुरुष), सहायक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ कलाकार (महिला), सर्वश्रेष्ठ मूल स्क्रिप्ट, सर्वश्रेष्ठ पहनावा और सर्वश्रेष्ठ कोरियोग्राफर की श्रेणी में 14 पुरस्कार प्रदान किये जाएंगे। महाभारत और आउटकास्ट को चयन समिति से अधिकतम नामांकन प्राप्त हुए हैं और ये दोनों नौ श्रेणियों में प्रतिस्पर्धा करेंगे।
महोत्सव के टिकट और श्रेणी वार नामांकन की पूरी सूची के लिए, कृपया www.metawards.com पर विजिट कर सकते हैं। पूर्ण अनुसूची और मेटा महोत्सव के लिए जूरी की घोषणा जल्द ही की जाएगी।

चयनित नाटक और उनके निर्दशकों की सूची

क्रम संख्या
नाटक का नाम
भाषा
निर्देशक
1
अवध्या शेष रजनी
बंगाली
ब्रत बसु
2
भीम
अंग्रेजी और मलयालम
अनीता संथानम
3
धूम्रपान
अंग्रेजी और हिन्दी
आकर्श खुराना
4
एलिफेंट इन द रूम
अंग्रेजी
यूकी इलियास
5
आई डोंट लाइक इट ऐज यू लाइक इट
अंग्रेजी
रजत कपूर
6
काली नादकम
मलयालम
चंद्रदासन
7
कथा सुकवि सूर्यमल की
राजस्थानी और बहुभाषी
राजेंद्र पांचाल
8
लसानवाला
हिन्दी और खड़ी बोली
हेमंत पांडे
9
महाभारत
अंग्रेजी, हिन्दी और कन्नड़
अनुरूपा रॉय
10
आउटकास्ट
हिन्दी
रणधीर कुमार


Axact

Akshaya Gaurav

hindi sahitya, hindi literature, hindi stories, hindi poems, hindi poetry, motivational stories, inspirational stories, हिन्दी साहित्य, कहानियाँ, हिन्दी कविताएँ, काव्य, प्रेरक कहानियाँ, प्रेरक कहानियाँ, व्यंग्य.

loading...

POST A COMMENT :