जय कुलदेवी सेवा समिति, रतलाम के तत्वाधान में हिन्दी निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। समिति के अध्यक्ष विजय सिंह यादव के अनुसार 'मत कमाऊ को चाहिए मीठे-मीठे पकवान' विषय पर आयोजित प्रतियोगिता दो वर्गों में आयोजित की जा रही है। उन्होंने बताया कि पहला वर्ग विद्यार्थियों के लिए है इसमें निबंध कम से कम 300 शब्दों में जबकि दूसरा वर्ग अन्य विद्ववानों के लिए है इसमें निबंध कम से कम 500 शब्दों में होना अनिवार्य है। भाषा की गरिमा का ध्यान रखते हुए कहावतो का प्रयोग अनिवार्य है, जैसे पानी में पांव नहीं दूँगा सबसे बड़ी मछली में लूँगा, लाड़ के पूत आ चूले में मूत आदि। इस निबंध प्रतियोगिता का मूल उदेश्य अनेको परिवार की एक गंभीर समस्या पर लोगो का ध्यान आकर्षित करना है। जिसके कारण परिवार में मत कमाऊ सदस्य अन्य परिश्रम करने वाले सदस्यों की आर्थिक स्तर और प्रतिष्ठा को दीमक की तरह खोखला करते रहते है। साथ ही साथ मादक द्रव्यों का सेवन कर घर में तोड़ फोड़ करते रहते है और स्वयं को स्व सत्यापित विद्वान् घोषित करके स्वयं के मन को मीठा करते हैं। प्रविष्टियां 5 सितम्बर 2017 तक इस पते पर भेजी जा सकती है। जय कुलदेवी सेवा समिति, रतलाम, 40, लक्ष्मी नगर, रत्नेश्वर रोड,रतलाम (म.प्र.) 457001।
प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में सुनील कदम, घनश्याम यादव शामिल, कमलेश यादव शामिल है। प्रतियोगिता के परिणामों की घोषणा 14 सितम्बर को हिन्दी अलंकरण समारोह के दौरान की जाएगी। इस अवसर पर एक परिसंवाद भी रखा गया है जिसमें भाषाओं के विद्ववान अपने विचार व्यक्त करेंगे। विजेता के लेख का प्रकाशन 'जय कुलदेवी' मासिक पत्रिका और वेबसाइट www.JayKulDevi.com में किया जायेगा ।


Axact

Akshaya Gaurav

hindi sahitya, hindi literature, hindi stories, hindi poems, hindi poetry, motivational stories, inspirational stories, हिन्दी साहित्य, कहानियाँ, हिन्दी कविताएँ, काव्य, प्रेरक कहानियाँ, प्रेरक कहानियाँ, व्यंग्य.

loading...

POST A COMMENT :